संगीता फोगाट को लेकर बृजभूषण के घर पहुंची दिल्ली पुलिस, जानिए फिर क्या हुआ…

दिल्ली पुलिस शुक्रवार को पहलवान संगीता फोगाट को भारतीय कुश्ती महासंघ के निवर्तमान अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के आधिकारिक आवास पर ले गई ताकि उन घटनाक्रमों का नाटकीय रूपांतरण किया जा सके जिसके तहत यौन उत्पीड़न की घटना हुई थी। बृजभूषण पर महिला पहलवानों के यौन उत्पीड़न के आरोप लगे हैं । सूत्रों के अनुसार फोगाट के साथ महिला कांस्टेबल भी थीं।

सूत्रों ने कहा, ‘‘करीब डेढ बजे संगीता फोगाट को लेकर महिला अधिकारी दिल्ली में बृजभूषण के आधिकारिक निवास पर पहुंचे। वे करीब आधा घंटे तक वहां रूके। उन्होंने फोगाट से घटनाक्रम को दोहराने और उन स्थानों को याद करने के लिये कहा जहां उत्पीड़न हुआ था।’’

इस बीच पहलवान विनेश फोगट और बजरंग पुनिया ने उन खबरों की आलोचना की, जिसमें दावा किया गया कि संगीता फोगट बृजभूषण के घर पर इसलिए गईं क्योंकि पहलवान उनके साथ यौन उत्पीड़न के मुद्दे पर समझौता कर रहे हैं। विरोध करने वाले पहलवानों ने कहा कि बृजभूषण अपनी पावर का इस्तेमाल नैरेटिव को बदलने के लिए कर रहे हैं। सच्चाई यह है कि एक महिला शिकायतकर्ता (संगीता फोगाट) को बृज भूषण के आधिकारिक आवास पर इसलिए ले जाया गया क्योंकि यह अपराध स्थल था।

विनेश फोगट ने एक बार फिर गिरफ्तारी की मांग करते हुए ट्वीट किया, “विनेश ने लिखा, “बृजभूषण की यही ताकत है। वह अपने बाहुबल, राजनीतिक ताक़त और झूठे नैरेटिव चलवाकर महिला पहलवानों को परेशान करने में लगा हुआ है, इसलिए उसकी गिरफ्तारी जरूरी है। पुलिस हमें तोड़ने की बजाए उसको गिरफ्तार कर ले तो इंसाफ की उम्मीद हैं वरना नहीं। महिला पहलवान पुलिस इन्वेस्टीगेशन के लिए क्राइम साईट पर गयीं थीं लेकिन मीडिया में चलाया गया कि वे समझौता करने गई हैं।”

इस बीच दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार को एक अदालत से कहा कि यौन शोषण के आरोपों से घिरे भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) के निवर्तमान अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर जंतर-मंतर पर धरना देने वाले पहलवानों के खिलाफ नफरती भाषण का कोई मामला नहीं बनता है। पुलिस ने अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट अनामिका के समक्ष दायर कार्रवाई रिपोर्ट (एटीआर) में यह बात कही। न्यायमूर्ति अनामिका बृजभूषण पर ‘झूठे आरोप’ लगाने के लिए प्रदर्शनकारी पहलवानों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने के अनुरोध वाली याचिका पर सुनवाई कर रही थीं।

दिल्ली पुलिस का विशेष जांच दल (एसआईटी) उत्तर प्रदेश के कैसरगंज से भाजपा सांसद और डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष बृजभूषण के खिलाफ यौन उत्पीड़न के मामले की जांच कर रहा है । जांच रिपोर्ट अगले हफ्ते तक जमा करने की उम्मीद है। जांच के तहत एसआईटी ने 180 से अधिक लोगों से पूछताछ की है। दिल्ली पुलिस ने मामले में दो एफआईआर दर्ज की है।

 

Related Articles

Back to top button